पढ़ाई के साथ पर्यावरण की भी चिंता अब जरूरी

 

पूरे देश में जहाँ लोग पर्यावरण संरक्षण को लेकर अपनी अपनी बात रख रहे है तो ठीक उसी समय दिल्ली विश्वविद्यालय के कुछ छात्र चुपचाप कुछ अलग करने की रार ठानी, छात्रों ने अपने पॉकेट मनी से पैसे बचाकर लोगों को उपहारस्वरूप पौधे बांट कर जागरूकता लाने का इरादा कर लिया है। इन बच्चों ने मुखर्जी नगर में कैम्प लगा कर लोगों को पर्यावरण और प्रकृति के करीब ले जाने की कोशिश की उनका ये भी उद्देश्य था कि वहां पढ़ने के लिए आने वाले ज्यादातर बच्चे अपने घरों से और प्रकृति की गोद से दूर कोचिंग के बाजार की इस दुनिया में रह रहे है। सो स्वाभाविक है कि पढ़ाई की टेंशन और आपाधापी में तनाव होगा ऐसे में इन छात्रों को प्रकृति के निकट लाना बेहतर विकल्प है। भारतीय सिविल सेवा की तैयारी कर रहे यह छात्र भविष्य में विभिन्न सरकारी कार्यालयों में बड़े-बड़े ऊंचे पदों पर कार्य करेंगे। यही छात्र भविष्य में नीति निर्माण और नीति क्रियान्वयन में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेंगे। अतः ऐसे में इनको प्रकृति के निकट लाकर आज के संदर्भ में पर्यावरण का महत्व समझाना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है। कहीं ना कहीं छात्रों के पौधे के रखरखाव से छात्रों का झुकाव प्रकृति की ओर बढ़ेगा और धीरे-धीरे उनकी रुचि इस काम में बढ़ेगी।

इस कार्यक्रम को आयोजित करने का श्रेय कुमार राम, विशाल कुमार गुप्ता, लक्ष्मण सिंह, विकास, धर्मेश पांडेय को जाता है जो अपने व्यक्तिगत कोशिशों से प्रदूषण को कम करने के तहत लोगों को जागरूक और सजग कर रहे है।

इसके पहले इन छात्रों ने अप्रैल कूल मुहिम चलाई थी जिसमें लोगों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया और काफी सराहा एक पौधा कितनी शीतलता ला सकता है आपके आसपास ये बताने के लिए इनलोगो ने बहूत सारे दूसरे छात्रों, गृहणियों, और कामकाजी प्रकृति प्रेमियों को अपने साथ जोड़ा। ये छात्र विभिन विषयों में दिल्ली यूनिवर्सिटी से शोध कर रहे है। और चाहते है कि राष्ट्र निर्माण में इन बातों को भी जगह मिले जो हमारे जीने के लिए जरूरी है।

Share This
COMMENTS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *